Panipat Movie Review | Panipat The Great Betrayal | Snappy Movie
Panipat Movie Review: पानीपत मूवी इस साल की सबसे बढ़िया फिल्म या सबसे घटिया। Panipat एक ऐसे सच्ची कहानी है जिसे हम सबको स्कूल के दिनों में आधा .....

Panipat Movie Review | Panipat The Great Betrayal | Snappy Movie

panipat, panipat movie, panipat movie review, panipat film review, panipati movie review in hindi, panipat review in hindi, panipat hindi reviewPanipat Movie Review: Panipat एक ऐसे सच्ची कहानी है जिसे हम सबको स्कूल के दिनों में आधा अधूरा ही पढ़ाया गया था। आज हम सबको भारतीय सिनेम (यानी बॉलीवुड) को धन्यवाद कहना चाहिए क्योंकि उन्हीं की वजह से हमें भारतीय इतिहास में हुए सबसे खतरनाक युद्ध पर एक फिल्म बनाकर एक महान कार्य किया है। Panipat मूवी पानीपत के तीसरे युद्ध पर बनी एक फिल्म है जिसे जोधा अकबर फिल्म के डायरेक्टर आशुतोष गोस्वामी ने डायरेक्ट किया है। इस फिल्म के लीड रोल में अर्जुन कपूर कीर्ति सेनन और संजय दत्त आपको नजर आएंगे।

यह फिल्म पानीपत के तीसरे महायुद्ध पर आधारित है जिसके बारे में आज भी ज्यादा लोगों को नहीं पता है। वह युद्ध जो मराठा सेना और अफगानी सेना के बीच में हुआ था। यह जंग हिंदुस्तान के इतिहास की सबसे खतरनाक जंगल में से एक मानी जाती है और जो हमें मराठों के संघर्षो, बलिदानों और उनकी वीरता के बारे में बताती है जिससे हम आज तक अनजान थे। पानीपत फिल्म में वैसे तो अर्जुन कपूर सदाशिव राव भाऊ रोल को निभा रहे हैं जो कि एक बहुत बड़ा किरदार है पर अर्जुन कपूर ने जिस तरीके की एक्टिंग की है वह नकाबलिए बर्दाश्त है अर्जुन कपूर के चेहरे पर ना तो कोई गुस्सा था ना ही कोई वीरताओ वाली बात थी। जहां-जहां फिल्म में इमोशंस और सर्वाइवल के सिंस में अर्जुन कपूर ने बहुत ही घटिया एक्टिंग की है।

कीर्ति सनन ने भी अर्जुन कपूर की तरह ही एक्टिंग की है कीर्ति ने इस फिल्म में (पार्वतीबाई यानी सदाशिव राव भाऊ की पत्नी) का रोल किया है पर वह भी अपने रोल को निभाने में काफी नाकाम रही है कीर्ति की भी एक्टिंग अर्जुन कपूर की तरह ही है। जब आप इन दोनों की एक्टिंग और डायलॉग सुनोगे तो आपको लगेगा ही नहीं कि आप एक ऐतिहासिक मूवी देख रहे हो। इस पूरी फिल्म में जिस एक्टर किया कि मुझे सबसे ज्यादा एक्टिंग पसंद आई है वह है संजय दत्त का जो किरदार है वह काफी प्रशंसनीय और काबिले तारीफ है वैसे तो संजय इस फिल्म में (अहमद शाह दुर्रानी) के रोल को कर रहे हैं जो कि एक नेगेटिव रोल है, उनकी एक्टिंग को देखने के बाद ऐसा लगता है कि खलनायको के खलनायक वापस आ गए हों। फिर उन्होंने अपने रोल को बढ़िया तरीके से निभाया हैं।

वैसे तो आशुतोष ने इस फिल्म को बहुत ही बढ़िया तरीके से बनाया है साथ ही साथ उन्होंने फिल्म के सेट और कॉस्टयूम को उसी तरीके से दिखाया है जैसे उस समय वह थे। इस फिल्म में एक एक चीज का बहुत ही खास ध्यान रखा गया है जो कि इस फिल्म के लिए बहुत ही जरूरी था। अगर मैं फिल्म की जंग के सींस की बात करूं तो वह तो बहुत ही बढ़िया है जिस तरीके से शूट किया गया है वह तो बेमिसाल है। जब आप उन सींस को देखोगे तो आपको बहुत ही अच्छे लगेंगे।

Video Sourced By Reliance Entertainment

YOUR REACTION?